Sanitary Pads जिसका use हर girl ने अपनी जिंदगी में कभी ना कभी तो जरूर किया होगा but उनको शायद ही पता होगा कि वह जिस सेनेटरी पैड्स का use कर रही हैं उनके लिए safe है भी या नहीं। इसलिए चलिए जानते हैं सेनेटरी पैड से जुड़ी हर एक छोटी और बड़ी हर एक जानकारी, वह भी Hindi में।

Periods में क्या-क्या use कर सकते हैं?

Females अपनी सुविधा अनुसार पीरियड्स में Sanitary pads, Tampons या Menstrual cup का use कर सकती हैं but अगर कोई किसी लड़की के first time periods आएं हो तो उसे सेनेटरी पैड ही use करना चाहिए।

NOTE: Menstrual cup और Tampons Sanitary pads के alternative है।

मेरे अनुसार, Menstrual cup और Tampons ऐसी लड़कियों को इस्तेमाल करना चाहिए जिन्हें कम से कम 6 महीने मासिक धर्म का अनुभव हो चुका हो।

[ Menstrual cup क्या है और कैसे इस्तेमाल करें – Click करके पढ़ें ]

सेनेटरी पैड क्या है – What is sanitary pad or sanitary napkins in periods

Sanitary pads को Sanitary napkin या स्वच्छता पैड भी कहा जाता है। इसका इस्तेमाल females पीरियड्स के वक्त निकलने वाले blood को absorb कराने के लिए करती हैं।

Sanitary Pads Types in Hindi

महिलाओं के सेहत और आराम को ध्यान में रखते हुए कंपनियों ने कई types के सैनिटरी पैड्स बनाए हैं जो कुछ इस प्रकार हैं-

Organic Cotton Sanitary Pads

यह पैड्स पूरी तरह से chemical free होते हैं। इनमें किसी तरह के fertilizers, dyes, chlorine, bleach या scent को नहीं डाला जाता है। ये पैड्स पूरी तरह से eco friendly हैं।

Organic Cotton Sanitary Pads को खासकर उन महिलाओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है जिनको एलर्जी या इंफेक्शन जल्दी हो जाता है।

मेरे अनुसार, सभी females को Organic Cotton Sanitary Pads का ही इस्तेमाल करना चाहिए because यह दूसरे chemical वाले pads से हजार गुना ज्यादा safe and secure है।

Reusable Sanitary Pads

इन पैड्स सैनिटरी पैड्स को wash करके कई बार इस्तेमाल ( reuse ) किया जा सकता है।

यह एक खास तरह के cloth से बने होते हैं और इसमें panty पर एक ही जगह लगाए रखने के लिए बटन दिया होता है।

Reusable Sanitary Pads को लंबे समय तक इस्तेमाल करने के लिए हमेशा ठंडे पानी और किसी अच्छे डिटर्जेंट पाउडर से ही धोना चाहिए।

Reusable Sanitary pads की उम्र 1 साल तक होती है यानी हर 1 साल बाद आपको नए सेनेटरी पैड्स खरीदने पड़ेंगे।

ऐसी महिलाएं जो पैड्स ना इस्तेमाल करके अभी भी कपड़े का इस्तेमाल करती हैं उनके लिए reusable pads काफी ज्यादा अच्छे हैं।

Over Night Sanitary Pads

रात में इस्तेमाल करने के लिए अलग तरह के पैड्स होते हैं जो ज्यादा लंबे होते हैं और heavy flow में भी काम आते हैं।

जिन लड़कियों को रात में सोते समय अक्सर लीकेज की समस्या आती है उन्हें Over Night Sanitary Pads use करना चाहिए।

अपने लिए सही साइज का सेनेटरी पैड कैसे चुनें – Sanitary pad Sizes in Hindi

सेनेटरी पैड या नैपकिन ज्यादातर 2 साइज में आता है – 1. Regular(R), 2. Extra large (XL)

आपके लिए सही साइज का pad कौन सा होगा, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको कितना ज्यादा blood flow हो रहा है।

अगर आपका blood flow ज्यादा नहीं है तो Regular Size का पैड use करें और अगर flow ज्यादा है तो XL size का pad इस्तेमाल करें।

आपका blood flow ज्यादा है या कम इस बात का पता ऐसे चलेगा कि अगर आपका पैड 2 या 3 घंटे में बिल्कुल गीला हो गया है तो flow ज्यादा है और कम गीला हुआ है तो flow कम है।

अगर आपको first time periods हो रहे हैं तो XL size के पैड का use करें ताकि ज्यादा अच्छे से leakage से protection मिल सके।

पैड कैसे लगाते हैं – How to use sanitary pads or napkins for the first time in Hindi

सेनेटरी पैड्स use करने का तरीका इतना आसान है कि उसे school girls भी आसानी से इस्तेमाल कर सकती हैं।

सेनेटरी पैड्स को इस्तेमाल करने से पहले आपको यह जरूर ध्यान रखें कि हाथ अच्छे से धुले हुए हों ताकि आप इंफेक्शन से बच सकें।

Sanitary pad को use करने के लिए सबसे पहले पीछे के तरफ चिपके हुए कागज को हटाएं।

फिर पैड को अपनी panty के उस हिस्से पर रखें जो बिल्कुल बीचो-बीच में होता है।

फिर पैड को अपने हाथ से दबा कर अच्छी तरह panty पर चिपका लें।

उसके बाद पैड की wings पर दिए गए कागज को निकालें और wings को पीछे की तरफ मोड़ कर अच्छी तरह से चिपका दें।

ऐसा करने पर पैड बिल्कुल आपकी panty पर set हो जाएगी और अपनी जगह से हटेगी भी नहीं।

अब इस pad लगी हुई panty को पहन लें और यह जरूर याद रखें कि हर 4 से 5 घंटे बाद pad बदलना है।

Sanitary pad or napkin कैसे change करें?

पैड बदलने के लिए आप जब भी बाथरूम में जाएं तो अपने साथ कोई न्यूज़पेपर का टुकड़ा या कागज जरूर ले जाएं।

बाथरूम में जाकर सबसे पहले अपनी पेंटी को नीचे की तरफ खिसकाएं और चिपके हुए पैड को खींच कर बाहर निकाल दें।

अब खून लगे हुए pad को आधे पर से मोड़कर कागज के टुकड़े पर रखकर अच्छी तरह चारों तरफ कागज लपेट दें।

कागज लपेटने के बाद pad को डस्टबिन में फेंक दें। कभी भी पैड को फ्लश ना करें।

अब अपनी panty पर एक नया पैड चिपका लें और panty वापस पहन लें।

NOTE: कई सारे सेनेटरी पैड्स के साथ disposal bags भी आते हैं। अगर आपको आपके pads के साथ disposal bag मिला हो तो अखबार की जगह disposal bag में ही सेनेटरी पैड डालकर फेंके।

[ 10 Amazing Period Hacks every girl NEEDS to know in Hindi – क्लिक करके पढ़ें ]

Best Sanitary Pads Brands or Company Names in India

वैसे तो India में कई सारे अच्छे brands के सेनेटरी पैड मिलते हैं लेकिन इनमें से जो brands या companies मुझे best लगती हैं वह हैं –

  1. Pee Safe Organic Cotton, Biodegradable Sanitary Pad
  2. Pro ease Go Long sanitary pad
  3. Whisper Ultra Clean Sanitary Pad
  4. Stayfree Secure XL Cottony Sanitary Napkin

सेनेटरी पैड्स के फायदे – Advantages of sanitary pads in Hindi

सेनेटरी पैड्स को इस्तेमाल करने के लिए के अंदर नहीं डालना पड़ता है।

Sanitary पैड्स Menstrual Cup या tampons के मुकाबले इस्तेमाल करने में बहुत ही आसान है।

Sanitary pads आपको आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर या किराना स्टोर में मिल जाएगा।

अगर आप ऑर्गेनिक कॉटन सैनिटरी पैड्स का इस्तेमाल करते हैं तो एलर्जी से बच सकते हैं।

Sanitary pads Side effects or disadvantages in Hindi

सेनेटरी पैड के इस्तेमाल से अक्सर महिलाओं को itching, rashes और irritation की समस्या होती है।

सेनेटरी पैड को लंबे समय तक इस्तेमाल करने पर कैंसर की समस्या हो सकती है।

हर 4 से 5 घंटे में पैड्स को बार-बार बदलना पड़ता है।

सेनेटरी पैड प्रकृति की दृष्टि से भी अच्छा नहीं है because यह जल्दी नष्ट नहीं होता है और धरती पर सालों तक कचरे के रूप में पड़ा रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here