Vitamins kya hai in Hindi: आज के इस ब्लॉग में हम विटामिन क्या है? विटामिन कितने प्रकार के होते है? इसके साथ ही विटामिन के स्रोत, विटामिन के फायदे और विटामिन के कमी से होने वाले रोग के बारे में विस्तार से जानेंगे!

विटामिन एक प्रकार के भोजन के अवयव होते है जो जीव के शरीर के विकास और शरीर को सही ढंग से कार्य करने के लिए शक्ति प्रदान करते है!

स्वस्थ रहने के लिए हमारे भोजन में विटामिन का सम्मलित होना बहुत जरुरी होता है! सभी विटामिन हमारे शरीर में अलग अलग कार्य करते है! 

यह हमारे शरीर में प्रोटीन और कार्बोहायड्रेट के मेटाबोलिज्म करने का कार्य करते है! 

तो चलिए बिना अधिक समय बिताये शुरू करते है और विटामिन क्या है? Vitamins kya hai in Hindi, यह कितने प्रकार के होते है(Vitamins types in Hindi और विटामिन के स्रोत, इसके कमी से होने वाले रोग और शरीर के लिए विटामिन का महत्व के बारे में सही रूप से जान लेते है!

Vitamins kya hai in Hindi
Vitamins kya hai in Hindi

विटामिन्स क्या होते है? – What is Vitamin in Hindi

Vitamins kya hai in Hindi: विटामिन रासायनिक रूप से कार्बनिक यौगिकों का समूह होता है जो एक प्रकार का आवश्यक पोषक तत्व होता है!

एक जीव के शरीर के विकास के लिए बहुत आवश्यक होता है! 
विटामिन्स में कार्बन होने के कारण यह कार्बनिक कहलाते है! हमारे शरीर के लिए आहार ही विटामिन का मुख्य स्रोत होता है!

विटामिन शरीर द्वारा पर्याप्त मात्रा में स्वयं से बहुत कम मात्रा में बनता है इसलिए विटामिन को प्राकृतिक खाद्य पदार्थो के रूप में लेना आवश्यक होता है!
प्रत्येक जिव के शरीर में अलग अलग विटामिन की आवश्यकता होता है! 

विटामिन की खोज किसने की?

सर्वप्रथम विटामिन के खोज 1912 में हॉपकिंस द्वारा की गयी और कासिमीर फंक नामक एक बायोकेमिस्टद्वारा यह  विटामिन नाम दिया गया!

हॉपकिंस द्वारा यह ज्ञात किया गया की विटामिन की पर्याप्त मात्रा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत आवश्यक है!
विटामिन दो शब्दों से मिलकर बना है वीटा + अमीन अर्थात ‘वीटा’ का मतलब होता है जीवन और ‘अमीन’ मानव शरीर में पाया जाने वाला एक प्रकार का यौगिक होता है!

विटामिन शरीर के लिए क्यों आवश्यक है?

एक स्वस्थ शरीर के लिए विटामिन बहुत आवश्यक होते है! शरीर में विटामिन की कमी होने पर हमारा शरीर कमजोर पड़ने लगता है!

विटामिन के कमी से शरीर में कई प्रकार की बीमारिया जन्म ले सकती है! और विटामिन हमारे शरीर को कई बीमारियों से बचाते है!

शरीर का विकास सही और सम्पूर्ण रूप से होना चाहिए! विटामिन हमारे शरीर के प्रत्येक भाग हड्डी, तंत्रिका कोशिका, रक्त कोशिकाओं, किडनी, लिवर, के स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते है!

विटामिन्स के प्रकार कितने होते है? – Vitamins types in Hindi

विटामिन्स मुख्यतः दो प्रकार के होते है

  • वसा में घुलनशील विटामिन (Fat soluble Vitamins)
  • पानी में घुलनशील विटामिन (Water soluble Vitamin)

1. वसा में घुलनशील विटामिन (Fat soluble Vitamins Kya Hai in Hindi)

वह विटामिन्स जो वसा में घुलनशील होते है अर्थात वसा के साथ अवशोषित हो जाते है, Fat soluble Vitamins यानि की वसा में घुलनशील विटामिन कहलाते है! 

फैट – सोल्युबल विटामिन जीव के शरीर में कई दिनों तक रह सकते है! यह विटामिन शरीर में वसा उत्तको में store होते है!

यह विटामिन मुख्य रूप से चार प्रकार के होते है! जो इस प्रकार निम्न है!

  • Vitamin ‘A’
  • Vitamin ‘D’
  • Vitamin ‘E’
  • Vitamin ‘K’ 

अब वसा में घुलनशील सभी विटामिन्स, इनके रासायनिक नाम, स्रोत, फायदे और इनके कमी से होने वाले रोग और विटामिन्स के फायदे के बारे में विस्तार से जान लेते है!

1. Vitamin ‘A’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘ए’ का रासायनिक नाम रेटिनॉल है!

मुख्य स्रोत (Source)

लिवर, दूध, अंडा, मक्खन, तरबूज, पनीर, गाजर, कद्दू, सकरकंद इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

रतौंधी, सुखी कार्निया की बीमारी हो सकती है! साँस की तकलीफ, बाँझपन इत्यादि!

विटामिन्स ‘A’ के फायदे

  • शरीर में विकास, प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है!
  • कैंसर से बचाव करता है!
  • आखो के लिए, हड्डीयो के स्वास्थ्य और रिप्रोडक्शन क्षमता के लिए विटामिन ‘ए’ फायदेमंद होता है!

2. Vitamin ‘D’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘डी’ का रासायनिक नाम केल्सीफेरोल है!

मुख्य स्रोत (Source)

सूरज की रौशनी, मशरूम, मछली, लिवर, अंडे इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

हड्डी रोग ( रिकेटस) और आस्टोमलेसिया( हड्डियों में कमजोरी) इत्यादि!

विटामिन्स ‘D’ के फायदे

  • शरीर में कैल्शियम के अवशोषण बढ़ाता है!
  • हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनता है!
  • हृदय स्वास्थ्य के लिए विटामिन ‘डी’ आवश्यक होता है!

3. Vitamin ‘E’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘E’ का रासायनिक नाम टोकोफेरोल है!

मुख्य स्रोत (Source)

दूध से बने पदार्थ, अंडा, मांस, बादाम, कीवी फल, हरी सब्जिया, अनाज इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

हेमोलिटिक एनीमिया (जो नवजात शिशुओं में होता है इसमें शरीर में ब्लड सेल्स खत्म होने लगती है)

विटामिन्स ‘E’ के फायदे

  • यह विटामिन मानव शरीर में एक पोषक तत्व के तरह कार्य करता है!
  • आँखों, त्वचा, बालो और ब्लड हेल्थ के लिए विटामिन ‘इ’ फायदे मंद होता है!
  • शरीर में एंटीऑक्सीडेंट के तरह कार्य करता है!

4. Vitamin ‘K’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘K’ का रासायनिक नाम फीलोक्विनोने है!

मुख्य स्रोत (Source)

हरी पत्ती सब्जियां, कीवी फल, नाशपाती और अजमोद के बीज इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

आस्टियोपेरिसिस(हड्डियों में कमजोरी), हृदय रोग, ब्लीडिंग इत्यादि!

विटामिन्स ‘E’ के फायदे

  • हड्डियों की मजबूती प्रदान करता है!
  • रक्त के थक्का बनाने के लिए आवश्यक(यह प्रोथ्रॉम्बिन प्रोटीन के द्वारा होता है! जो विटामिन के पर निर्भर प्रोटीन होता )!

पानी में घुलनशील विटामिन (Water soluble Vitamin Kya Hai in Hindi)

वह विटामिन जो पानी में आसानी से घुल जाते है! पानी में घुलनशील विटामिन शरीर में उत्तको में बहुत जल्दी अवशोषित हो जाते है लेकिन ये विटामिन शरीर में जमा नहीं होते है!
विटामिन को आहार के माध्यम से प्रतिदिन लेना बहुत आवश्यक होता है! 

पानी में घुलनशील विटामिन यूरिन में शरीर से बाहर निकल जाते है! Water – soluble विटामिन में विटामिन ‘सी’ और ‘बी’ काम्प्लेक्स विटामिन सम्मलित होते है जो की निम्नलिखित है!

अब पानी में घुलनशील सभी विटामिन्स, इनके रासायनिक नाम, स्रोत, फायदे और इनके कमी से होने वाले रोग और विटामिन्स के फायदे के बारे में विस्तार से जान लेते है!

1. Vitamin ‘C’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘C’ का रासायनिक नाम एस्कोर्बिक एसिड है!

मुख्य स्रोत (Source)

खट्टे फल( नीबू, संतरा, अंगूर), आलू, काली मिर्च, स्ट्रॉबेरीज़, ब्रोकोली इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

स्कर्वी, एनीमिया, रूखे बाल होना, दाँतों की समस्या, त्वचा में रूखापन इत्यादि!

विटामिन्स ‘C’ के फायदे

  • शरीर में कोशिकाओं के हेल्थ के लिए आवश्यक, हड्डियों को स्वस्थ रखने में सहायक होता है!
  • रक्त कोशिकाओं के लिए आवश्यक होता है!
  • शरीर में घाव भरने में विटामिन सी महत्वपूर्ण होता है!

2. Vitamin ‘B1’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B1’ का रासायनिक नाम थाइमिन है!

मुख्य स्रोत (Source)

ब्राउन राइस, अनाज के दाने, आलू, खमीर, फूलगोभी, राइ, सनफ्लॉवर सीड्स, केला इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

बेरी बेरी, वर्निक-कोर्साकॉफ़ सिंड्रोम और हार्ट फेलियर इत्यादि!

विटामिन्स ‘B1’ के फायदे

मांसपेशियां, हार्ट, ब्रेन, नर्वस सिस्टम के हेल्थ, इत्यादि के लिए विटामिन बी1 बहुत फायदेमंद होता है!

3. Vitamin ‘B2’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B2’ का रासायनिक नाम राइबोफ्लेविन है!

मुख्य स्रोत (Source)

मांस, दूध और दूध से बने पदार्थ , अंडा, हरी बीन्स, मछली, केला, खुरमा, ओकरा इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

एरिबोफ्लेविनोसिस( मुँह पर घाव हो जाना)

विटामिन्स ‘B2’ के फायदे

  • शरीर में ऊर्जा प्रदान करता है!
  • कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन और फैट्स को ब्रेकडाउन करता है!

4. Vitamin ‘B3’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B3’ का रासायनिक नाम नियासिन है!

मुख्य स्रोत (Source)

दूध , अंडा, हरी पत्तियां सब्जिया, टमाटर, मांस, खजूर, ब्रोकली, मेवे, सकरकंद, गाजर, फल, मशरूम इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

मानसिक तनाव, त्वचा रोग, डायरिया, पैलेग्रा इत्यादि!

विटामिन्स ‘B3’ के फायदे

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, शारीरिक विकास में लाभदायक, गठिया को कम करता है!

5. Vitamin ‘B5’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B5’ का रासायनिक नाम पैंटोथेनिक एसिड है!

मुख्य स्रोत (Source)

मछली, आलू, ओट्स, टमाटर, साबुत अनाज, मांस, मुर्गी इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

नींद न आना, शरीर में थकान, डिप्रेशन इत्यादि!

विटामिन्स ‘B5’ के फायदे

  • नर्वस सिस्टम के लिए सहायक होता है!
  • लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है!
  • बाल, आँख और त्वचा के लिए विटामिन बी ‘5’ फायदेमंद होता है!

6. Vitamin ‘B6’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B6’ का रासायनिक नाम पैरोडोक्ज़ामिन है!

मुख्य स्रोत (Source)

बीज, मीट, केला, अंडा, हरी पत्ती सब्जियां, नट्स, आलू, बीन्स इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

डिप्रेशन, मस्तिष्क, रीड की हड्डी में कमजोरी!

विटामिन्स ‘B6’ के फायदे

  • शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाये रखता है!
  • यह विटामिन रक्त में एमिनो एसिड के सामान्य मात्रा को बनाये रखता है!

7. Vitamin ‘B7’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B7’ का रासायनिक नाम बायोटिन है!

मुख्य स्रोत (Source)

फल, मांस, लिवर, अंडा, सब्जियां इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

शरीर और आंत में सूजन, बालों का झड़ना, इत्यादि!

विटामिन्स ‘B5’ के फायदे

  • शरीर में रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करता है!
  • फैटी एसिड को शरीर में मेटाबोलाइज़ करता है!
  • फोलिक एसिड शरीर का विकास करता है!

8. Vitamin ‘B9’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B9’ का रासायनिक नाम फोलिक एसिड है!

मुख्य स्रोत (Source)

हरी पत्ती सब्जियां, लिवर, खट्टे फल, अनाज, खमीर, ब्रेड, सूरजमुखी बीज, इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

साँस लेने में तकलीफ, शरीर का विकास न होना, मसूड़ों में सूजन, पाचनतंत्र संबंधी समस्या, मानसिक तनाव इत्यादि!

विटामिन्स ‘B9’ के फायदे

  • शरीर में रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है!
  • मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के विकास के लिए आवश्यक होता है!

9. Vitamin ‘B12’

रासायनिक नाम

विटामिन ‘B12’ का रासायनिक नाम साइनोकोबालमीन है!

मुख्य स्रोत (Source)

दूध से बने पदार्थ, अंडा, मछली, मीट, अनाज, सोया, इत्यादि!

कमी से होने वाले रोग

तंत्रिका कोशिका क्षति, रक्तस्त्राव!

विटामिन्स ‘B12’ के फायदे

  • यह रक्त कोशिका और नर्वस सिस्टम को स्वस्थ रखता है!
  • मेगालोब्लास्टिक एनेमिआ को रोकता है!

निष्कर्ष – Conclusion

दोस्तों आज के इस ब्लॉग के माध्यम से हम ने आपको विटामिन्स क्या होते है? (Vitamins kya hai in Hindi) और विटामिन कितने प्रकार के होते है? इसके साथ ही विटामिन के स्रोत, विटामिन के फायदे और विटामिन के कमी से होने वाले रोग के बारे में विस्तार से बताने की कोशिश की! 

उम्मीद करते है यह आर्टिकल (Vitamins kya hai in Hindi) को पढ़कर आपको आसान शब्दों में विटामिन के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा! 
पोस्ट अच्छी लगे तो इसे सोशल मिडिया(WhatsApp, Instagram, Facebook, twitter etc.) पर अवश्य शेयर करते और पोस्ट को लाइक जरूर करें! इस टॉपिक से संबंधित अपने सवाल, विचार को कमेंट में लिखकर जरूर बताएं!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here